उरई

उत्तर प्रदेश में जालौन की कालपी तहसील में यमुना नदी में डूबे दो युवकों के शव एनडीआरएफ की टीम ने रविवार सुबह खोज लिये जबकि दो अन्य की तलाश जारी है। इस दुर्घटना के मद्देनजर प्रभारी मंत्री नीलिमा कटियार ने भी प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। पुलिस ने बताया कि कल देर शाम बाढ़ग्रस्त यमुना में डूबे चार युवकों में से दो के शव ढूंढ़ लिये गये है जबकि अन्य दो युवकों की तलाश में एनडीआरएफ की टीम अब भी लगी है लेकिन समाचार लिखे जाने तक उन्हें सफलता नहीं मिली थी। इस घटना के बाद प्रशासन की ओर से जनप्रतिनिधियों और लोगों किसी को भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में किसी भी कारण से नहीं जाने की सख्त चेतावनी जारी की गयी है। इस बीच पुलिस प्रशासन ने इंतजाम पुख्ता करते हुए चौकसी बढ़ा दी है। प्रशासन ने बाढ़प्रभावित लोगों की मदद के लिए आगे आने वाले लोगों से भी अपील की है कि अगर कोई बाढ़ प्रभावितों की मदद करना चाहता है तो राहत सामग्री पुलिस को मुहैया कराये। पुलिस सुरक्षित तरीके से राहत सामग्री को प्रभावित लोगों के पास पहुंचा देगी लेकिन कोई भी नाव या किसी अन्य तरीके से बाढ्रग्रस्त इलाकों में जाने का प्रयास नहीं करे। कहा जा रहा है कि कल देर शाम छह युवक बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए राहत सामग्री लेकर जा रहे थे इसी बीच रास्ते में उनकी नाव पलट गयी । इस दुर्घटना में चार युवकों की मौत हो गयी जबकि दो सुरक्षित बच आये। चार युवकों में से दो के शव आज बरामद कर लिये गये जबकि दो अन्य की तलाश जारी है। इस बीच ग्रामीणों का यह भी कहना है कि पानी के बीच सेल्फी लेने के चक्कर में उनकी नाव पलट गयी। पुलिस ने इस मामले में जांच के बाद ही तस्वीर साफ होने की बात कही है।

Leave a Reply