इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न 2021 ने अपने नामांकन की घोषणा की

मुंबई | देश के बाहर सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म समारोहों में से एक इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ़ मेलबर्न ने अपने वार्षिक पुरस्कार समारोह के लिए अपने नामांकन की घोषणा की है।

विक्टोरियन सरकार द्वारा प्रस्तुत किया जाने वाला यह फेस्टिवल एक वार्षिक उत्सव है जो ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में होता है और उस वर्ष के भारतीय फिल्मों और उपमहाद्वीप की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों को प्रदर्शित करता है। अपने 12वें संस्करण में, इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न (आईएफएफएम) 2021 में 100 से अधिक फिल्मों के साथ, जिनकी स्क्रीनिंग इस कार्यक्रम के दौरान होगी। यह विविधता का उत्सव होगा और अपने सभी रूपों में भारतीय सिनेमा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन होगा।स्क्रीनिंग के अलावा, बहुप्रतीक्षित ‘आईएफएफएम पुरस्कार समारोह’ भी उत्सव के दौरान आयोजित किया जाएगा।

20 अगस्त को होने वाले इस वर्ष के आईएफएफएम के रोल ऑफ ऑनर में पहले से कहीं अधिक नाम शामिल होंगे।फिल्म निर्माण के विभिन्न वर्गों से प्रतिभा की पहचान को जोड़ते हुए, इस साल यह महोत्सव वेब शो के तहत तीन श्रेणियों को लॉन्च कर रहा है। ओटीटी शो के बढ़ते चलन को ध्यान में रखते हुए मनोरंजन कॉन्टेंट की खपत पर हावी है, यह फेस्टिवल अभिनेता और अभिनेत्री श्रेणी के तहत प्रत्येक श्रृंखला में सर्वश्रेष्ठ सीरीज, सर्वश्रेष्ठ परफॉरमेंस को मान्यता देगा। इन शोज का चुनाव केवल उन प्लेटफार्मों तक सीमित है जो ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों के लिए उपलब्ध हैं। इस नॉमिनेशन में अगस्त 2020 से जुलाई 2021 के बीच रिलीज हुई फिल्मों और कंटेंट को देखा जाएगा।

नामों की इस सूची में अनुराग बसु निर्देशित लूडो, अमित मसुकर निर्देशित विद्या बालन अभिनीत शेरनी, सूर्या अभिनीत और निर्मित और सुधा कोंगारा निर्देशित और हरीश खन्ना अभिनीत और बिस्वजीत बोरा निर्देशित गॉड ऑन द बालकनी एक असमिया समेत अन्य फिल्म शामिल है। इस साल के फेस्टिवल जूरी में जूरी सदस्य शामिल हैं, जिसमें वैश्विक पुरस्कार विजेता फिल्म संपादक जिल बिलकॉक, ऑस्ट्रेलिया के प्रसिद्ध अभिनेताओं में से एक विंस कोलोसिमो और मल्टी पुरस्कार विजेता निर्देशक जेफ्री राइट जैसे नाम शामिल होंगे।

Leave a Reply